पहला X- RAY आखिर किसका और कैसे किया गया था

पहला X- RAY आखिर किसका और कैसे किया गया था

जैसा की हम सबने पढ़ा ही  होगा की 1895 में जर्मनी के एक वैज्ञानिक W . C . Roentgen ने अपने एक एक्सपेरिमेंट के दौरान अचानक से एक नयी किरण का खोज किया था जिसका नाम X-Ray  रखा गया | वह उस समय एक फ्लोरेसेंट बल्ब की तरह दिखने वाली तुबे के साथ कोई एक्सपेरिमेंट कर रहे थे , तभी उनकी दिमाग में कुछ अलग करने को आया और उन्होंने उस बल्ब के अंदर से हवा को निकाल दिया और एक दूसरी गैस भर दिया | 

ट्यूब में गैस भरने के बाद उन्होंने उसमे से हाई वोल्टेज  पास किया तो एक बहुत ही तेज़ रौशनी पैदा हुयी , इस रौशनी को काम करने के लिए उन्होंने तुबे पर बहुत सारा काले रंग का कागज़ रख दिया | तभी उन्होंने देखा की एक एक ऐसी लाइट की किरण है जो ढकने के बाद भी बाहर आ रही थी और थोड़ी  दूर पर राखी एक स्क्रीन पर साफ़ साफ़ दिख रही थी | उन्होंने उसके बाद फिर बहुत सी ठोस चीज़ों को उस किरण के आगे रख कर देखा और सभी चीज़ों से वह पार कर गयी | 
इस किरण के बारे में पहले किसी को नहीं पता था इसलिए यह एकदम नयी थी तो इसका नाम उन्होंने X -Ray  रख दिया | 
सबसे पहला X-Ray  Roentgen ने अपनी पत्नी का किया था | उनकी पत्नी ने अपने हाथों में एक अंगूठी पहन रखी थी तो उन्होंने उसी हाथ का X -Ray  किया और देखा की सिर्फ हाथ की हड्डी और वह अंगूठी ही दिखाई दे रही है | 

इसके बाद एक क्रान्ति सी आ गयी और मेडिकल साइंस में इस टेक्नोलॉजी का उपयोग शुरू हो गया |  

धन्यवाद् 

Post a Comment

0 Comments